Thursday, April 25, 2024
Homeहरियाणारोहतकयात्रियों से पैसे लेकर टिकट न देने वाले नपेंगे कंडेक्टर, शिकायत के...

यात्रियों से पैसे लेकर टिकट न देने वाले नपेंगे कंडेक्टर, शिकायत के लिए जारी हुआ नंबर

रोडवेज बस में पैसे लेकर टिकट न देने वाले हरियाणा रोडवेज के परिचालकों की अब खैर नहीं। रोहतक परिवहन विभाग ने रोडवेज बसों में भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए एक WhatsApp नंबर जारी किया है। जिस पर आप अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।

रोहतक। यात्रियों से पैसे लेकर टिकट न देने वाले हरियाणा रोडवेज के परिचालकों पर लगाम कसने के लिए अधिकारीयों ने कमर कस ली है। रोहतक परिवहन विभाग में भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए प्रशासन ने एक WhatsApp नंबर जारी किया। जहां आप अपनी शिकायत कर सकते हैं। अगर परिचालक आपसे पैसे लेकर टिकट नहीं देता है तो यात्री इस WhatsApp नंबर पर शिकायत कर सकते हैं।

रोहतक के उपायुक्त यशपाल यादव ने परिवहन विभाग की इस योजना का स्वागत करते हुए कहा है कि अब जल्द ही परिवहन विभाग में भ्रष्टाचार पूरी तरह से खत्म होगा। उन्होंने कहा कि ज्यादातर परिचालक पैसे लेकर टिकट नहीं देते थे, जो सीधा उनकी जेब में जाता था। अब ऐसा नहीं होगा। उपायुक्त ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टोलरेंस नीति अपनाई जा रही है। परिवहन विभाग के रोहतक डिपो द्वारा इस दिशा में अच्छी पहल करते हुए WhatsApp नंबर जारी किया गया है।

उपयुक्त ने बताया कि यदि बस में सफर करने वाले यात्रियों से टिकट की राशि लेकर परिचालक द्वारा टिकट नहीं दी जाती है तो वे इसका वीडियो बनाकर या अपना संदेश WhatsApp संख्या 82784-56000 पर भेजकर परिवहन विभाग के अधिकारियों को अवगत करवाएं। ऐसी सभी शिकायतों पर स्थानीय बस स्टैंड परिसर में स्थापित किए गए नियंत्रण कक्ष द्वारा तुरंत कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

डिपो के महाप्रबंक भारत भूषण गोगिया ने यात्रियों से आह्वान किया है कि वे परिवहन विभाग की इस पहल को सफल बनाकर भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ाई में अपना सहयोग दें। इसके अलावा रोहतक डिपो के पूछताछ कार्यालय के दूरभाष संख्या 01262-276641 एवं 01262-276000 पर भी सम्पर्क किया जा सकता है।

ता दें कि अक्सर परिचालक यात्रियों से तो पैसे ले लेते थे, लेकिन टिकट नहीं देते थे। इसको लेकर काफी लोगों ने शिकायत भी की थी, लेकिन अब प्रशासन द्वारा एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। इसके अलावा एक WhatsApp नंबर भी जारी किया गया है, जिसमें यात्री परिचालक की वीडियो-फोटो बना कर भेज सकता है। यही नहीं एक संदेश भी भेज सकता है जो सीधे अधिकारियों तक पहुंचेगा और परिचालक के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

- Advertisment -
RELATED NEWS

Most Popular