Sunday, March 3, 2024
Homeदिल्ली‘अखिल भारतीय पंचनद स्मारक समिति’ की नई कार्यकारिणी सदस्यों की नियुक्ति
- Advertisment -

‘अखिल भारतीय पंचनद स्मारक समिति’ की नई कार्यकारिणी सदस्यों की नियुक्ति

- Advertisment -

नई दिल्ली। परमाराध्य धर्म सम्राट ज्योतिष पीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी के प्रवास निवास दिल्ली पर उनकी उपस्थिति में ‘अखिल भारतीय पंचनद स्मारक समिति’ के अध्यक्ष डॉ. राम आहूजा जी की अध्यक्षता में एक बैठक सम्पन्न हुई, जिसमें पुरानी राष्ट्रीय, क्षेत्रीय कार्यकारिणी और प्रमुख गवर्निंग बॉडी को भंग करके नई गवर्निंग बॉडी स्थापित की गई।

‘अखिल भारतीय पंचनद स्मारक समिति’ की नई गवर्निंग बॉडी में डॉ. राम आहूजा अध्यक्ष पद पर, सुरेश मनचंदा को वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर, वीरेंद्र काठपालिया को मुख्य सचिव पद पर, अनिल गिरोत्रा को कोषाध्यक्ष पद पर तथा बलदेव मल्होत्रा को मीडिया प्रभारी के पद पर नियुक्ति दी गई।

बैठक में नवनियुक्त सदस्यों द्वारा ज्योतिष पीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी श्री अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी को अखिल भारतीय पंचनद स्मारक समिति का संरक्षक बनाने के लिए निवेदन दिया गया। गवर्निंग बॉडी के सभी अधिकारियों ने गवर्निंग बॉडी की फीस मात्र 21000/- रूपये नकद दिये। मीटिंग में तय किया गया कि गवर्निंग बॉडी में सदस्य बनने के लिए रुपये 21000/- की राशि ली जाएगी और जनरल बॉडी में अभी 21 सदस्य लिए जाएंगे तथा भविष्य में गवर्निंग बॉडी के सदस्यों की संख्या बढ़ाई जा सकती है। इसके अलावा मीटिंग में तय किया गया कि लाइफ मेंबरशिप के लिए फीस सिर्फ 1100 रुपए रखी जाएगी।

बैठक में यह तय किया गया कि आजीवन सदस्यता सदस्यों को गवर्निंग बॉडी के होने वाले चुनाव में वोट का अधिकारी होगा। गवर्निंग बॉडी के सदस्यों को अलग से आजीवन सदस्यता शुल्क नहीं देना होगा, गवर्निंग बॉडी के सदस्य भी आजीवन सदस्य माने जायेंगे। कुरूक्षेत्र के ईशरगढ़ में पंचनद अखंड दिव्य ज्योति की देख-रेख में एक समिति का गठन किया जाएगा जो पूरी जिम्मेदारी से दिव्य ज्योति की देखरेख करेगी।

समिति अगले 7 दिनों में नया बैंक खाता खोलेगी और खाता संचालित करने के लिए 3 या 5 सदस्यों की समिति बनाई जाएगी। आश्रम पर यात्री के रुकने की भी व्यवस्था की जाएगी। भजन संध्या और भजन फेरी, परिवार जोड़ो पर काम किया जाएगा, मुफ़्त शिक्षा (स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय) पर काम होगा। पंचनद के मुफ्त अस्पताल खोले जाएंगे, जहां मुफ्त इलाज होगा, कैंसर अनुसंधान केंद्र (संस्थान) खोले जाएंगे। रोजग़ार बनाएं जाने की व्यवस्था होगी तथा स्टार्टअप्स को सपोर्ट की जाएगी।

- Advertisment -
- Advertisment -
RELATED NEWS
- Advertisment -

Most Popular