Friday, July 12, 2024
HomeदेशPGI Rohtak : पीजीआईएमएस रोहतक देश के बेहतर संस्थानों में हुआ शामिल

PGI Rohtak : पीजीआईएमएस रोहतक देश के बेहतर संस्थानों में हुआ शामिल

- Advertisment -
- Advertisment -

Rohtak News : पीजीआईएमएस रोहतक के चिकित्सकों के लिए बहुत बड़ी खुशी की खबर है। संस्थान में छात्रों को दी जा रही उच्च गुणवता की शिक्षा के चलते पीजीआईएमएस पूरे देश के छात्रों की 27वीं पसंद बना है।

एक मैगजीन द्वारा एमडीआरए से करवाए गए सर्वें में पूरे देश के मेडिकल कालेजों में 27वां रैंक मिला है। इसके चलते संस्थान के चिकित्सकों मे खुशी की लहर है।

कुलपति डॉ. अनिता सक्सेना, कुलसचिव डॉ.एच.के. अग्रवाल ने फैकल्टी व स्टाफ को उनके समर्पण के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि हमें और अधिक मेहनत करके खुद को पहले दस मेडिकल कालेजों में शुमार करना चाहिए।

पीजीआईएमएस के निदेशक डाॅ.एस.एस. लोहचब ने बताया कि पहली बार गत वर्ष इस मैगजीन इंडिया टूडे के सर्वें में पीजीआईएमएस को 29वा स्थान मिला था और इस वर्ष इसमें बढ़ोतरी होते हुए 27 वां रैंक मिला है। उन्होने कहा कि यह भी अपनी आप में एक बडी उपलब्धि है कि संस्थान को पूरे देश के 700 से अधिक मेडिकल कालेजों में 27वां रैंक मिला है।

डाॅ. लोहचब ने कहा कि उनकी टीम का प्रयास रहता है कि यहां उत्कृष्ट नैदानिक सामग्री, उच्च गुणवत्ता के अनुसंधान, उत्कृष्ट शैक्षणिक वातावरण और विश्व स्तर की बुनियादी सुविधा छात्रों को प्रदान करवाई जाए। डॉ. लोहचब ने कहा कि यह सब कुलपति डाॅ. अनिता सक्सेना के मागदर्शन से संभव हो पाया है, जिनके प्रयासों से आज संस्थान नई उचाईयों की तरफ बढ रहा है। सभी फैकल्टी सदस्यों, कर्मचारियों व विद्यार्थियों को इसके लिए बधाई देते हैं। उन्होंने कहा कि उनका प्रयास है कि संस्थान में आने वाले सभी मरीजों को उच्च गुणवत्ता की चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई जाए।

कुलपति डॉक्टर अनीता सक्सेना ने कहा कि संस्थान पर लोगों का कितना विश्वास है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ओपीडी में हरियाणा के अलावा यूपी, दिल्ली व राजस्थान सहित कई प्रदेशों के करीब 7000 से अधिक मरीज प्रतिदिन यहां इलाज करवाने के लिए आते हैं।

कुलसचिव डॉ.एच.के. अग्रवाल ने फैकल्टी व स्टाफ को उनके समर्पण के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि हमें और अधिक मेहनत करके खुद को पहले दस मेडिकल कालेजों में शुमार करना चाहिए।

- Advertisment -
RELATED NEWS
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular