Friday, July 12, 2024
Homeहरियाणाजींदजींद में राज्यस्तरीय श्रमिक जागरूकता एवं सम्मान समारोह, सीएम सैनी ने श्रमिकों...

जींद में राज्यस्तरीय श्रमिक जागरूकता एवं सम्मान समारोह, सीएम सैनी ने श्रमिकों के लिए खोला खजाना

- Advertisment -
- Advertisment -

श्रमिकों के कल्याणार्थ चलाई जा रही योजनाओं का लाभ देने के लिए हरियाणा सरकार द्वारा जींद में राज्य स्तरीय श्रमिक जागरूकता एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्यमंत्री नायब सिंह ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की।

इस समारोह में मुख्यमंत्री ने 18 योजनाओं के तहत 1,02,629 श्रमिकों को 79.69 करोड़ रुपये के लाभ की राशि सीधे उनके खातों में जारी की। समारोह में मुख्यमंत्री ने सांकेतिक रूप से विभिन्न योजनाओं के लिए लाभार्थियों को चेक वितरित किए और बेटियों को इलेक्ट्रिक स्कूटी की चाबी सौंपी।

मुख्यमंत्री श्रमिक पंजीकरण प्रोत्साहन योजना और कन्यादान एवं विवाह सहायता योजना की भी शुरुआत

इस दौरान मुख्यमंत्री ने दो नई योजनाओं नामतः मुख्यमंत्री श्रमिक पंजीकरण प्रोत्साहन योजना और कन्यादान एवं विवाह सहायता योजना की भी शुरुआत की। मुख्यमंत्री श्रमिक पंजीकरण प्रोत्साहन योजना के तहत अब निर्माण श्रमिकों को पंजीकरण करने पर 1100 रुपये की राशि प्रोत्साहन स्वरूप दी जाएगी। साथ ही, कन्यादान एवं विवाह सहायता योजना के तहत श्रमिकों को उनकी बेटियों की शादी के लिए 1 लाख 1 हजार रुपये की राशि दी जाएगी, जिसमें से 75 प्रतिशत राशि विवाह के तीन दिन पूर्व मिलेगी। इस समारोह में उद्योग एवं वाणिज्य और श्रम मंत्री श्री मूलचंद शर्मा भी उपस्थित रहे।

नायब सिंह ने कहा कि उन्होंने अधिकारियों के साथ बैठक कर निर्देश दिए थे कि जिन श्रमिकों को किसी भी कारणवश कोई लाभ नहीं मिला है, उनकी सूची तैयार की जाए और सभी को एक साथ लाभ जारी किया जाए। आज जारी किए गए लाभों में 42,166 महिलाओं के खातों में सिलाई मशीन के लिए 15 करोड़ 7 लाख रुपये, साईकिल योजना के तहत 19,925 श्रमिकों को 9.95 करोड़ रुपये, औजार खरीदने के लिए 19,880 श्रमिकों को 15.90 करोड़ रुपये, पंजीकृत श्रमिकों के बच्चों की शिक्षा के लिए 3068 बच्चों को 2.96 करोड़ रुपये, इलेक्ट्रिक स्कूटर योजना के तहत ई-स्कूटर की खरीद के लिए 1446 बच्चों को 7.23 करोड़ रुपये की राशि सीधे उनके खातों में डाली गई है।

इसी प्रकार, बेटी की शादी के लिए वित्तीय सहायता और कन्यादान योजना के तहत आज 1206 श्रमिकों के खातों में 12.18 करोड़ रुपये, पंजीकृत श्रमिक के मेधावी बच्चों के लिए छात्रवृत्ति योजना के तहत 379 बच्चों को 1.25 करोड़ रुपये, पुत्र की शादी के लिए वित्तीय सहायता योजना के तहत 34 श्रमिकों को 7 लाख रुपये की राशि सीधे उनके खातों में डाली गई है। इसके अलावा, अन्य योजनाओं के तहत भी कई करोड़ों रुपये के लाभ दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने श्रमिकों के लिए घोषणा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत श्रमिकों को भी अयोध्या दर्शन कराया जाएगा।

कांग्रेसी नेता जब पोर्टल को बंद करने की बात करते हैं तो भ्रष्टाचार की बू नजर आती है

नायब सिंह ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्षी दल के नेता कहते हैं कि जब वे सत्ता में आएंगे तो वे पोर्टल को बंद कर देंगे। कांग्रेस के नेता भूपेंद्र हुड्डा जब पोर्टल को बंद करने की बात करते हैं तो भ्रष्टाचार की बू नजर आती है। क्योंकि जब कांग्रेस की सरकार थी, उस समय श्रमिकों को लाभ नहीं पहुंचता था, परंतु हमारी सरकार ने पोर्टल के माध्यम से हर वर्ग को लाभ पहुंचाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने पिछले लगभग 10 वर्षों में श्रमिकों के लिए आयुष्मान कार्ड और चिरायु योजना के तहत लाभ प्रदान किया है।

इस अवसर पर उद्योग एवं वाणिज्य और श्रम मंत्री  मूलचंद शर्मा, राज्यसभा सांसद कृष्ण लाल पंवार, जींद से विधायक डॉ. कृष्ण मिड्डा, श्रम विभाग के प्रधान सचिव श्री राजीव रंजन, श्रम आयुक्त हरियाणा मनीराम शर्मा सहित बड़ी संख्या में श्रमिक उपस्थित थे।

 चौ. रणबीर सिंह विश्वविद्यालय परिसर में किया 19.20 करोड़ रुपए की लागत से बने इंटरनेशनल गेस्ट हाऊस का उद्घाटन

मुख्यमंत्री नायब सिंह ने जिला जींद में आयोजित राज्य स्तरीय श्रमिक जागरूकता एवं सम्मान समारोह के दौरान चौ. रणबीर सिंह विश्वविद्यालय के नवनिर्मित इंटरनेशनल गेस्ट हाऊस का उद्घाटन किया। इस गेस्ट हाऊस के निर्माण पर 19 करोड़ 20 लाख रुपए की लागत आई है।

   गेस्ट हाऊस के उद्घाटन के अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार हर क्षेत्र में विकास कार्य करवा रही है। विश्वविद्यालय परिसर में बना यह गेस्ट हाऊस बहुत ही उपयोगी साबित होगा। उन्होंने कहा कि चिकित्सा, शिक्षा या अन्य किसी भी क्षेत्र में समय के अनुरूप सुविधाओं की डिमांड बढ़ती है, सरकार इन सुविधाओं को पूरा करने के प्रति गंभीर है। उन्होंने कहा कि सरकार चहुंमुखी विकास करवा रही है। यह गेस्ट हाऊस विश्वविद्यालय की तरक्की में मील का पत्थर साबित होगा।

  उल्लेखनीय है कि नवनिर्मित गेस्ट हाऊस करीब 50 हजार स्कवेयर फीट में बना है। यह पूर्णरूप से वातानुकूलित और अत्याधुनिक सुविधाओं से सुशज्जित है। इसमें 40 कमरे बनाए गए हैं। इसके अलावा, इसके परिसर में हरियाली का पूरा ध्यान रखा गया है, जो एक तरह से पर्यावरण संरक्षण का भी प्रतीक है।

- Advertisment -
RELATED NEWS
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular