Sunday, March 3, 2024
Homeहरियाणाहरियाणा में मौसम विभाग का अलर्ट, शुरू होगी कंपकंपाती सर्दी, हवा दिलाएगी...
- Advertisment -

हरियाणा में मौसम विभाग का अलर्ट, शुरू होगी कंपकंपाती सर्दी, हवा दिलाएगी प्रदूषण से राहत

हरियाणा एनसीआर के लोग काफी लंबे समय से खराब हवा में सांस ले रहे हैं। अब उनके लिए अच्छी खबर आई है। कई हफ्ते बाद शनिवार से हवा चलेगी जिससे लोगों को राहत महसूस होगी। अभी कई शहरों में बेहद खराब श्रेणी में हवा है।

- Advertisment -

हिसार। हरियाणा में भले ही सर्दी अभी उतनी नहीं बढ़ी हो, लेकिन कोहरे का प्रकोप शुरू हो गया है। 12 जिलों में आज और कल घने कोहने को लेकर मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। विभाग की ओर से कहा गया है कि अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, कैथल, करनाल, गुरुग्राम, मेवात, पलवल, फरीदाबाद, रोहतक, सोनीपत, पानीपत में सुबह और शाम को कोहरे का ज्यादा प्रभाव रहेगा। राज्य में महेंद्रगढ़ का तापमान 6.9 डिग्री रिकॉर्ड किया गया है।

मौसम विभाग ने अभी दो दिनों तक रात और दिन के तापमान में गिरावट होने के आसार जताए हैं। 11 से 13 दिसंबर के बीच एक कमजोर पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है, जिसके कारण आसमान में बादलों का प्रभाव रहेगा। इसके साथ ही सूबे के कुछ जिलों में बारिश के आसार भी बनेंगे। वहीँ कई सप्ताह बाद शनिवार से हवा चलेगी जिससे लोगों को राहत महसूस होगी। वहीं, ठंड में भी इजाफा होने की संभावना है। उत्तरी पश्चिमी हवाओं के चलते हरियाणा में अब ठंड बढ़ने के आसार हैं। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले तीन दिनों में दिन और रात के तापमान में दो डिग्री तक की गिरावट हो सकती है।

शुक्रवार को अधिकतम तापमान 25.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। वहीं, न्यूनतम तापमान 9.2 डिग्री सेल्सियस रहा, जो कि सामान्य है। हवाओं के चलने से जहरीले प्रदूषण के स्तर में थोड़ी कमी आ सकती है। केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक, हवा की रफ्तार बढ़ने से ऐसी स्थिति बनेगी। हरियाणा के दिल्ली के साथ लगते शहरों के लोग इस बार लंबे समय से खराब हवा में सांस ले रहे हैं। हालांकि, गुरुवार को हरियाणा एनसीआर का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 300 के ऊपर यानी बेहद खराब श्रेणी में रहा। 20 अक्तूबर के बाद एक दिन भी ऐसा नहीं रहा है, जब वायु गुणवत्ता सूचकांक 200 से नीचे आया हो।

ज्यादातर समय लोगों को खराब, बेहद खराब, गंभीर या अत्यंत गंभीर श्रेणी की हवा में सांस लेना पड़ा है। अब इसमें हल्का सुधार की संभावना बन रही है। अभी तक हवा की रफ्तार आमतौर पर दस किलोमीटर से कम होने के चलते प्रदूषक कणों का बिखराव बेहद धीमा रहा। लेकिन, अब संभावना है कि शनिवार और रविवार को हवा की गति 16 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो सकती है। इससे प्रदूषक कणों का बिखराव तेज होगा और प्रदूषण के स्तर में कमी आएगी।

- Advertisment -
- Advertisment -
RELATED NEWS
- Advertisment -

Most Popular