Tuesday, June 25, 2024
Homeमनोरंजनकंगना रनौत का बड़ा बयान- झूठी दुनिया है, जीत गई तो छोड़...

कंगना रनौत का बड़ा बयान- झूठी दुनिया है, जीत गई तो छोड़ दूंगी बॉलीवुड!

- Advertisment -
- Advertisment -

मंडी। मशहूर अभिनेत्री कंगना रनौत अक्सर अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहती हैं। भाजपा ने बॉलीवुड की ‘क्वीन’ को हिमाचल प्रदेश के मंडी से प्रत्याशी बनाया है। यहां से कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह को चुनावी मैदान में उतारा है। चुनाव के बीच कंगना ने एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि अगर वह मंडी से चुनाव जीत गईं तो धीरे-धीरे बॉलीवुड से दूरी बना लेंगी और पूरा ध्यान राजनीति पर देंगी। उन्होंने बॉलीवुड को झूठी दुनिया भी कहा है।

राजनीति के लिए बॉलीवुड छोड़ देंगी कंगना?

एक्ट्रेस से पूछा गया कि फिल्मों के मुकाबले राजनीति की लाइफ एकदम अलग होती है। क्या ये सब उन्हें जंच रहा है? जवाब में कंगना बोलीं- फिल्मों की एक झूठी सी दुनिया है। वो अलग वातावरण बनाया जाता है। एक बबल बनाया जाता है लोगों को आकर्षित करने के लिए,लेकिन राजनीति एक वास्तविकता है। लोगों के साथ उनकी उम्मीदों पर खरा उतरना है, मैं नई हूं पब्लिक सर्विस में, बहुत कुछ सीखना है।

जीत गई तो छोड़ दूंगी बॉलीवुड!

एक इंटरव्यू के दौरान कंगना से पूछा गया कि क्या फिल्मों के साथ-साथ राजनीति करना मुश्किल है? इसपर अभिनेत्री ने कहा, ‘फिल्मों की तो एक झूठी सी दुनिया है… हर चीज फेक है। लोगों को आकर्षित करने के लिए एक बबल सा बनाया जाता है। फेक सिचुएशन क्रिएट की जाती हैं। आइडियली में एक ही काम करना चाहूंगी। मैं दोनों काम (फिल्म और राजनीति) नहीं करना चाहूंगी।’ इस पर रिपोर्टर ने पूछा कि आप यह कह रही हैं कि अगर मंडी से जीत गईं तो फिल्म इंडस्ट्री छोड़ देंगी? कंगना ने जवाब दिया कि ‘मैं एक ही काम करना चाहूंगी।’ कंगना ने बताया कि वह अब तक की बॉलीवुड के कमिटमेंट को पूरा कर अपना पूरा ध्यान राजनीति पर देंगी।

परिवारवाद पर क्या बोलीं कंगना?

कंगना रनौत ने परिवारवाद पर कहा- स्वाभाविक है, मुझे लगता है कहीं ना कहीं हमने परिवारवाद को फिल्मों और पॉलिटिक्स तक सीमित कर दिया है। परिवारवाद सबकी दिक्कत है और होनी चाहिए। इसका दुनिया में कोई अंत नहीं है। आपको ममता से उभरकर बाहर आना होगा. जहां तक हम खुद को एक्सटेंड करते हैं वो परिवार होता है। आज मुझे कहते हैं मंडी की बेटी, ये मेरा परिवार है, ममता में कमजोर नहीं होना है।

जब कंगना की फिसली जुबान

कंगना रनौत ने एक चुनावी रैली के दौरान राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव पर निशाना साधने के इरादे से गलती से अपनी ही पार्टी के सहयोगी तेजस्वी सूर्या का नाम ले लिया। मंडी के सुंदरनगर इलाके में एक जनसभा में कंगना ने ‘इंडिया’ गठबंधन का जिक्र करते हुए कहा कि विपक्षी गठबंधन ‘बिगड़ैल शहजादों’ से भरा है। कंगना ने आगे कहा, ‘बिगड़े हुए शहजादों की एक पार्टी है, चाहे वह राहुल गांधी हों, जिन्हें चांद पर आलू उगाने हैं, तेजस्वी सूर्या हों, जो गुंडागर्दी करते हैं, मछली उछाल-उछाल के खाते हैं।’

गौरतलब है कि तेजस्वी सूर्या बेंगलुरु दक्षिण से सांसद हैं और उसी निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा के उम्मीदवार हैं, जबकि तेजस्वी यादव राजद नेता हैं। तेजस्वी यादव हाल में एक वीडियो क्लिप पोस्ट करने के बाद भाजपा के निशाने पर आ गए थे, जिसमें वह नवरात्र के दौरान मछली खाते नजर आए। कंगना रनौत के भाषण की क्लिप साझा करते हुए तेजस्वी यादव ने तंज करते हुए कहा, ‘ये कौन मोहतरमा हैं?’

- Advertisment -
RELATED NEWS
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular