Saturday, May 25, 2024
Homeहरियाणादिल दहला देने वाली वारदात, दंपति ने तीन बच्चों सहित की सामूहिक...

दिल दहला देने वाली वारदात, दंपति ने तीन बच्चों सहित की सामूहिक आत्महत्या

- Advertisment -

घरेलू कलह के चलते दंपति ने अपने तीन बच्चों सहित पहले जहर निगल लिया फिर गैस लीक कर घर में आग लगा दी। सभी को झुलसी हालत में ट्रामा सेंटर लाया गया। तीनों बच्चों ने कल ही दम तोड़ दिया था और आज रोहतक पीजीआई में पति-पत्नी ने भी दम तोड़ दिया।

- Advertisment -

रेवाड़ी। हरियाणा में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। रेवाड़ी के गढ़ी बोलनी में एक दंपति ने तीन मासूम बच्चों के साथ सामूहिक आत्महत्या कर ली। प्लॉट विवाद और घरेलू कलह से परेशान हो कर शनिवार आधी रात को दंपत्ति ने पहले अपने बच्चों को जहर दिया फिर खुद खा लिया। इसके बाद घर में रखे गैस सिलेंडर में आग लगा दी। पांचों के पैर आपस में रस्सी से बंधे मिले थे। सभी को झुलसी हालत में रोहतक पीजीआई में लाया गया। रविवार को तीनों बच्चों की मौत हो गई। सोमवार अलसुबह दंपत्ति ने भी दम तोड़ दिया। पुलिस को घटनास्थल से सुसाइड नोट और जहर के पाउच भी बरामद हुए है।

मिली जानकारी के अनुसार, रेवाड़ी जिले के गांव गढ़ी निवासी लक्ष्मण सिंह प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था। शनिवार को उसके परिवार में ही किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। इससे लक्ष्मण सिंह ही नहीं, बल्कि उसकी पत्नी व तीनों बच्चे काफी आहत थे। देर रात लक्ष्मण सिंह ने ना केवल खुद जहर खाया, बल्कि पत्नी रेखा (30), बेटी अनीषा (16), निशा (14) व बेटे हितेष (10) को भी जहर दे दिया। इतना ही नहीं पांचों ने आपस में रस्सी से पैर भी बांध लिए।

जहरीला पदार्थ खाने के कारण सभी बेसुध हो गए थे। कमरे में गैस सिलेंडर खुले छोड़ देने के कारण रात करीब डेढ़ बजे बम फटने जैसा धमाका हो गया और कमरे का रोशनदान उखड़ कर बाहर जा गिरा था। धमाके के बाद स्वजन व पड़ोसियों को घटना के बारे में पता लगा था। जिसके बाद पड़ोसी और अन्य लोग घर में पहुंचे तो कमरे अंदर से बंद मिले। बाद में पड़ोसी छत के रास्ते घर के अंदर दाखिल हुए तो कमरे में धुआं भरा हुआ था। किसी तरह पांचों को बाहर निकाला। पांचों झुलसे हुए थे। पांचों को ट्रामा सेंटर से रोहतक पीआइ के लिए रेफर कर दिया गया था और बाद में उन्हें काफी सीरियस हालत में रोहतक पीजीआई में भर्ती कराया था।

इस सामूहिक आत्महत्या केस में तीनों बच्चों की मौत हो गई थी। जबकि रेखा व लक्ष्मण गंभीर अवस्था में थे। तीनों बच्चों का देर शाम गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया था। सोमवार अलसुबह दोनों ने भी रोहतक पीजीआई में रेखा और लक्ष्मण ने भी उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। दंपती के शव का पुलिस आज पीजीआइ में पोस्टमार्टम कराएगी। पुलिस ने मृतक के भाई व दो भतीजों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की है। अभी किसी भी आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। दंपती ने एक सुसाइड नोट छोड़ा था। कसौला थाना पुलिस ने दंपति के शव का रोहतक पीजीआई में पोस्टमार्टम करा रही है। इस मामले में कसौला थाना पुलिस ने पहले ही केस दर्ज किया हुआ है। मृतकों के घर से एक सुसाइड नोट और जहरीले पदार्थ के काफी सारे पाउच भी मिले थे।

पुलिस ने लक्ष्मण के भाई व दो भतीजों के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज किया है। लक्ष्मण के साले ने पुलिस बयान में यह भी आरोप लगाया है कि लक्ष्मण का भाई उसके साथ आए दिन झगड़ा करते हुए उसकी बहन के साथ दुष्कर्म की धमकी देता था। घटना के बाद पुलिस को दिए बयान में लक्ष्मण के साले फरीदाबाद के शाहापुरा निवासी सत्यपाल ने आरोप लगाया कि उसके जीजा और बहन को प्लॉट के विवाद के चलते लक्ष्मण का बड़ा भाई भूपसिंह व उसके दो बेटे रमण तथा गोविंद लगातार परेशान करते थे। इन लोगों ने हाल ही में लक्ष्मण के साथ मारपीट भी की थी। उसके जीजा को बार-बार जान से खत्म करने और रेखा के साथ दुष्कर्म करने तक की धमकियां दी जाती थीं। पुलिस ने उसके बयान पर तीनों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस अभी मामले की जांच कर रही है।

पुलिस ने दंपति के शवों को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों के हवाले कर दिया। पांचों की मौत के बाद गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। इस हृदय विदारक हादसे में लक्ष्मण का पूरा परिवार काल के गाल में समा गया। लक्ष्मण का सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है, जो फटा हुआ है। विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हुए ही पुलिस जांच को आगे बढ़ा रही है। सोमवार को दोनों शवों का गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार कर दिया गया।

- Advertisment -
RELATED NEWS
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular