Sunday, March 3, 2024
Homeस्वास्थ्यपेनकिलर दवा मेफ्टाल लेने वाले हो जाये सावधान, सरकार ने जारी किया...
- Advertisment -

पेनकिलर दवा मेफ्टाल लेने वाले हो जाये सावधान, सरकार ने जारी किया अलर्ट, हो सकती है ये गंभीर बीमारी

भारतीय फार्माकोपिया आयोग ने आम दर्द निवारक दवा के बारे में एक सुरक्षा चेतावनी जारी की है, जिसमें कहा गया है कि इसका घटक मेफेनैमिक एसिड DRESS सिंड्रोम जैसी गंभीर एलर्जी प्रतिक्रियाओं को ट्रिगर करता है।

- Advertisment -

नई दिल्ली। पेनकिलर दवा खाने वालों के लिए जरूरी खबर है जिसे जानना सभी के लिए आवश्यक है। दरअसल हम सिर दर्द, बदन दर्द या शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द हो, बिना डॉक्टर की सलाह लिए कोई न कोई पेनकिलर खा लेते हैं। ये पेनकिलर दवाएं शरीर के लिए घातक साबित हो सकती है। अब भारतीय फार्माकोपिया आयोग (IPC) ने डॉक्टर्स और लोगों को दर्द निवारक दवा मेफ्टाल को लेकर सेफ्टी अलर्ट जारी किया है, जिसमें कहा गया है कि मेफ्टाल के ज्यादा सेवन से DRESS सिंड्रोम जैसी गंभीर एलर्जी प्रतिक्रियाओं को ट्रिगर मिलता है। इसका असर पूरे शरीर पर हो सकता है जिसकी वजह से परेशानी बढ़ जाएगी। इससे आपके शरीर के कई अंग प्रभावित होते हैं।

बिना प्रिस्क्रिप्शन मिलती है दवा

भारत में बड़े पैमाने पर मेफ्टाल मेडिकल स्टोर पर उपलब्ध है। खास बात ये है कि इसे खरीदने के लिए डॉक्टरों के प्रिस्क्रिप्शन की भी जरूरत नहीं है। इस दवा को आसानी से किसी भी मेडिकल स्टोर से खरीदा जा सकता है। इसलिए शरीर में किसी भी तरह के दर्द होने पर लोग मेफ्टाल खरीद कर इसका सेवन करते हैं।पीरियड्स में होने वाले दर्द, सिरदर्द और मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द में लोग इसका इस्तेमाल करते हैं। अगर बच्चों को तेज बुखार आता है तो इसके लिए भी डॉक्टर्स मेफ्टाल देते हैं। इसमें मेफेनामिक एसिड होता है जिसका अलग-अलग उपयोग किया जाता है।

जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल हो सकता है घातक

आईपीसी ने हेल्थ केयर एक्सपर्ट, मरीजों और उपभोक्ताओं को ये सलाह दी है कि अगर मेफ्टाल दवा के सेवन से कोई प्रतिकूल असर दिखता है तो उसका सेवन तत्काल बंद करने को कहा गया है। हालांकि डॉक्टरों का कहना है कि इस तरह का प्रतिकूल असर बहुत रेयर है। डॉक्टरों का कहना है कि किसी भी दवा का रिएक्शन अलग अलग मरीजों पर अलग अलग होता है। वैसे भी डॉक्टर बहुत सीमित खुराक में ही मरीज को मेफ्टाल के सेवन का प्रिस्क्रिप्शन देता है। बावजूद इसके अगर कोई अपनी मर्जी से जरूरत से ज्यादा इस दवा का सेवन करता है तो वह परेशानी में पड़ सकता है। Meftal, Mefkind, Mefanorm और Ibuclin P के रूप में बेचा जाने वाला mefenamic acid दवाइयों जैसे ibuprofen और aspirin के साथ समानता रखता है।

क्या है DRESSS सिंड्रोम?

ड्रेस सिंड्रोम यानि ड्रग रैश विद इओसिनोफिलिया एंड सिस्टमिक सिम्पटम्स। ये एक एलर्जी रिएक्शन है, जो करीब 10 प्रतिशत लोगों को प्रभावित करती है। दवाओं के कारण होने वाली ये एलर्जी कई बार घातक साबित होती है। दवा लेने के बाद 2 से 8 हफ्ते में इस एलर्जी के लक्षण नजर आने लगते हैं। इसमें बुखार, त्वचा पर लाल चकत्ते, लिम्फैडेनोपैथी, खून संबंधी परेशानी और कई बार अंदरूनी अंग भी प्रभावित हो सकते हैं। इसका सबसे अधिक असर दिल और किडनी पर होता है।

गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं से सावधान रहें

डॉक्टर्स का कहना है कि एक अन्य चिंता गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं से संबंधित है। मेफ्टाल जैसी दवाओं का लंबे समय तक उपयोग पेट के अल्सर, ब्लीडिंग और इससे संबंधित जटिलताओं के खतरे को बढ़ा सकता है। गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं के इतिहास वाले या समवर्ती रूप से अन्य NSAIDs या एंटीकोआगुलंट्स का उपयोग कर रहे हैं, उन्हें सावधानी बरतनी चाहिए। इसके अतिरिक्त, मेफ्टल के इस्तेमाल के दिल और किडनी को भी नुकसान पहुंचता है। इस गंभीर प्रतिक्रिया को रोकने के लिए दवा के उपयोग में सतर्कता महत्वपूर्ण है।

- Advertisment -
- Advertisment -
RELATED NEWS
- Advertisment -

Most Popular