Wednesday, May 31, 2023
Homeदेशनए संसद के उद्घाटन समारोह पर 19 दलों ने किया विरोध

नए संसद के उद्घाटन समारोह पर 19 दलों ने किया विरोध

New Parliament inauguration: 28 मई को नए संसद भवन का उद्घाटन (New Parliament inauguration) होने वाला है। पीएम नरेंद्र मोदी के द्वारा संसद भवन का उद्घाटन किया जायेगा। लेकिन संसद भवन के उद्घाटन समारोह के पहले कई राजनीतिक दलों के द्वारा इसका विरोध किया जा रहा है। 19 दलों ने केंद्र सरकार पर कई आरोप लगाते हुए 28 मई को दिल्ली में नए संसद भवन के उद्घाटन समारोह के बहिष्कार का ऐलान किया है।

ये दल कर रहे हैं नए संसद भवन का बहिष्कार (New Parliament inauguration) 

कांग्रेस, आम आदमी पार्टी (AAP), शिवसेना (UBT), तृणमूल कांग्रेस (TMC) और जनता दल (JDU) सहित 19 विपक्षी दलों ने संसद भवन के उद्घाटन के बहिष्कार के फैसले पर एकजुटता दिखाई है। उद्घाटन का बहिष्कार करने वाली पार्टियों में डीएमके (DMK), समाजवादी पार्टी (SP), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI), झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM), केरल कांग्रेस (मणि) शामिल हैं। वहीं विदुथलाई चिरुथिगल काची (VCK), राष्ट्रीय लोक दल (RLD), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी), राष्ट्रीय जनता दल (RJD), इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (IUML), नेशनल कॉन्फ्रेंस (NC), रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी (RSP) और मरुमलार्ची द्रविड़ मुनेत्र कज़गम (एमडीएमके)  के द्वारा नए संसद भवन के उद्घाटन समारोह का विरोध किया है। इन सभी ने एक संयुक्त बयान जारी किया है। बयान में कहा गया है कि लोकतंत्र की आत्मा को संसद से निष्कासित कर दिया गया है। हमें इस इमारत में कोई मूल्य नहीं दिखता है। इसलिए हम नए संसद भवन के उद्घाटन का बहिष्कार करने का फैसला किया है। हम इस निरंकुश प्रधानंमत्री और उनकी सरकार के खिलाफ लड़ाई जारी रखेंगे।

विरोधी दलों ने दिया संविधान के अनुच्छेद 19 का हवाला 

विरोधी दलों ने संविधान के अनुच्छेद 19 का हवाला देते हुए बयान में कहा गया है कि राष्ट्रपति न केवल भारत में राज्य का प्रमुख होता है, बल्कि संसद का एक अभिन्न अंग भी होता है। वह संसद को बुलाते हैं, सत्रावसान करते हैं और संबोधित करते हैं।

ये भी पढ़ें- जानिए कब है ज्येष्ठ पूर्णिमा

 

RELATED NEWS
- Advertisment -

Most Popular