हम काम करने में विश्वास रखते है

रोहतक। सहकारिता मंत्री मनीष कुमार ग्रोवर ने कहा है कि प्रदेश की 10 सहकारी व हैफेड की एक चीनी मिल ने आज तक 300 लाख क्वि टंल गन्ने की पिराई करके 11.2 प्रतिशत की रिकवरी की है, जोकि अपने आप में एक रिकॉर्ड है। यह सब प्रदेश के गन्ना उत्पादक किसानों की मेहनत से संभव हो पाया है। चीनी मिलों में रिकॉर्ड रिकवरी होने पर सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर के कैंप कार्यालय में किसानों ने उनका स्वागत किया और मंत्री ने भी किसानों को अपने हाथों से लड्डू खिलाये।

सहकारिता मंत्री ग्रोवर ने बाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि कांग्रेस के कार्यकाल में भी प्रदेश में यही चीनी मिले थी, लेकिन तत्कालीन सरकार की नीयत ठीक न होने की वजह से किसानों को लाभ नहीं हो रहा था। उन्होंने बताया कि पहले रिकवरी 8 से 9 प्रतिशत तक थी, जो मौजूदा समय में बढक़र 11.2 प्रतिशत हो गई है।

यह भी पढ़ें:  खट्टर सरकार की उड़ी नींद!

ग्रोवर ने कहा कि पिछले वर्ष की तुलना में आज की तिथि में 50 लाख क्विंटल अधिक गन्ने की पिराई हुई है, जिसका अर्थ है कि 3500 टीडीसी की क्षमता की एक नई मिल का लग जाना। समय से पहले चीनी मिलों को शुरू करना भी सरकार की एक उपलब्धि है।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने साफ किया कि विपक्ष के पास राज्य सरकार के खिलाफ कोई मुद्दा नहीं है और विपक्षी दल किसानों के नाम पर राजनीति करने का ढ़ोंग रच रहे है। भाजपा की सरकार काम करने में विश्वास रखती है। पीएम मोदी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जो बात ठान लेते है उससे पूरा करके रहते है। इसलिए निश्चित रूप से 2022 तक किसानों की आय दोगुणी हो जायेगी।