नया फर्जीवाड़ा, सब हैरान

नोएडा। एक बार फिर हरियाणा से फर्जीवाड़े की खबर है जिसने सभी को हैरान कर दिया है। नया फर्जीवाड़ा पहलवानों द्वारा किया गया है जो अक्सर देश के लिए मेडल लाने के लिए चर्चा में रहते है। कागजों में फर्जीवाड़ा करने पर सात नेशनल प्लेयर पहलवानों पर एक साल का बैन लगा दिया गया। इतना ही नहीं, एक मेडल विजेता पहलवान का मेडल भी वापस ले लिया गया है।

बताया जा रहा है कि इन पहलवानों ने जयपुर में पिछले महीने हुई जूनियर नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप में खेलने के लिए फर्जीवाड़ा किया, जिसमें पहलवानों ने अपनी उम्र कम दिखाई। चैंपियनशिप में 17-20 साल तक उम्र के पहलवान भाग ले सकते थे लेकिन उम्र में गोलमाल कर 26-27 साल के पहलवान इस चैंपियनशिप में खेलने उतरे। जांच हुई तो एक महिला और छह पहलवान ऐसे मिले, जिन्होंने उम्र कम करने के लिए कागजों में फर्जीवाड़ा किया और साथ ही बिना कुश्ती संघ से एनओसी लिए दूसरे राज्य से खेलना शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें:  हरियाणा सरकार के खिलाफ हुए बीरेंद्र सिंह, लगाई फटकार

भारतीय कुश्ती संघ ने फर्जीवाड़ा पकड़े जाने पर एक महिला पहलवान समेत सातों पर एक साल का प्रतिबंध लगा दिया है और जीतने वाले से मेडल वापस ले लिया है। इनमें से चार पहलवान हरियाणा के हैं। जूनियर नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप 22-25 फरवरी तक जयपुर में हुई थी।